Home » Kids Kahaniya » मेहनती किसान की कहानी | Kids Kahaniya

मेहनती किसान की कहानी | Kids Kahaniya

माधवपुर गांव में बिरजू नाम का एक किसान रहता था | वह अकेले ही रहा करता था | उसके पास एक जमींन थी और वह सोच ही रहा था की उसमे खेती की जाय | बिरजू अकेला था इसलिए वह सोचने लगा की में इस काम को अकेला कर सकूंगा या नहीं |

बिरजू के पास एक गाय और दो बैल थे | खेती करने के लिए बैलो की जरुरत होती है इसलिए उसने सोचा की में अब खेती ही करूँगा |

अगले दिन बिरजू अपने बैलो और हल को लेकर खेत की तरफ निकल पड़ा | खेत में जाकर उसने अपना हाल चलाया और खेती करने लायक बनाया | उसने जमींन में कुछ फसल के बीज बोये और अपना काम ख़त्म करकर घर की तरफ वापस आ गया |

घर आकर उसने अपने बैलो को घास चरने दिया | बिरजू अकेला ही सारा काम करने लगा क्योकि उसको मदत करने वाला कोही नहीं था | अब बारिश का मौसम आ गया था | मौसम भी उसका साथ देने लगा था | बिरजू बिना मजदुर के सारे काम अकेला ही करता था |

कुछ दिनों बाद उसकी मेहनत रंग लायी और उसकी फसल बहुत अच्छी आयी थी | उसने अपने फसल को काटा और धान को अनाज से अलग किया और बाजार ले गया | अनाज को बेचकर उसको बहुत ज्यादा मुनाफा हुवा था | यह देखकर वह बहुत ही खुश हो गया |

तो हमने क्या सीखा

इस कहानी में एक किसान अकेला ही खेत का सारा काम करता है और उसे अपने मेहनत का फल भी मिला | हमें भी अपने जीवन में आगे बढ़ना हो तो पहले खुद पर भरोसा होना चाहिए जिससे हम भी किसी के साथ के बिना जीवन में आगे बढ़ सके |

, ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*